कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट से तय नहीं होगा धोनी का भविष्य : BCCI



नई दिल्ली
ने गुरुवार को सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट में पूर्व कप्तान को जगह नहीं दी तो अलग-अलग तरह की चर्चाएं होने लगीं। माना जाने लगा कि का युग खत्म हो गया है। सोशल मीडिया पर रिटायरमेंट की चर्चा के साथ ही उनके अब तक के करियर को लेकर ‘थैंक्यू धोनी’ ट्रेंड होने लगा। फैन्स भावुक हो गए। ऐसे में यह समझना महत्वपूर्ण है कि कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट में नाम न होने के मायने क्या हैं।

धोनी के लिए टीम के दरवाजे बंद नहीं: अधिकारी
आपको बता दें कि बीसीसीआई ने गुरुवार को अक्टूबर 2019 से लेकर सितंबर 2020 तक के लिए अपने अनुबंध की घोषणा कि जिसमें सबसे बड़ा मुद्दा महेंद्र सिंह धोनी को जगह न मिलने का रहा। हालांकि बीसीसीआई के अधिकारी की मानें तो इसका मतलब यह कतई नहीं है कि धोनी के लिए टीम के दरवाजे बंद हो हुए हैं। बीसीसीआई के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट का देश के लिए खेलने से कोई कोई लेना-देना नहीं है।

पढ़ें,

तो फिर धोनी का नाम लिस्ट में क्यों नहीं?
अधिकारी ने साफ कहा कि धोनी अच्छा प्रदर्शन कर भारतीय टीम में जगह बनाने की दावेदारी पेश कर सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘बात को सीधे तरीके से लीजिए। कॉन्ट्रैक्ट मिलना इस बात की गांरटी नहीं देता है कि आप देश के लिए खेल सकते हैं या नहीं। नियमित खिलाड़ियों को कॉन्ट्रैक्ट दिए जाते हैं और ईमानदारी से कहूं तो धोनी वनडे विश्व कप-2019 के बाद से नहीं खेले हैं इसलिए उनका नाम अनुबंध में नहीं है।’

‘पहले भी ऐसे खिलाड़ी हुए, जो बिना कॉन्ट्रैक्ट के खेले’
उन्होंने कहा, ‘अगर कोई इसे रास्ते बंद होने और चयनकर्ताओं से संकेत मिलने की तरह देखता है तो ऐसा नहीं है।’ अधिकारी ने कहा, ‘अगर वह (धोनी) चाहें तो अभी भी अच्छा प्रदर्शन कर राष्ट्रीय टीम में वापस आ सकते हैं और इसमें टी-20 विश्व कप भी शामिल है। ईमानदारी से कहूं तो सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट का धोनी के भविष्य से कोई संबंध नहीं है।’ उन्होंने कहा, ‘पहले भी ऐसे खिलाड़ी रहे हैं जो बिना कॉन्ट्रैक्ट के खेले हैं और आप भविष्य में भी ऐसा देखेंगे। चीजों को लेकर कयास लगाने से कुछ नहीं होता।’

पढ़ें,

ए प्लस में कोहली, रोहित और बुमराह
बीसीसीआई के बयान के मुताबिक, केंद्रीय अनुबंध की ए प्लस कैटिगरी में कप्तान विराट कोहली, रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह हैं, लेकिन पिछली बार ए कैटिगरी में रहे धोनी इस बार जगह नहीं बना पाए। धोनी के संन्यास को लेकर कई तरह की अफवाह फैलती रहती है। ऐसे में टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री के उस बयान पर गौर करने की जरूरत है, जिसमें उन्होंने कहा था कि धोनी को लेकर आईपीएल तक का इंतजार कीजिए।

आईपीएल से तय होगा धोनी का भविष्य: शास्त्री
रवि शास्त्री ने आईएएनएस को दिए इंटरव्यू में धोनी की टीम में वापसी को लेकर कहा था, ‘यह निर्भर करता है कि वह कब खेलना शुरू करते हैं और आईपीएल में कैसा खेलते हैं। वहीं दूसरे खिलाड़ी विकेटकीपिंग में क्या कर रहे हैं और धोनी के मुकाबले उनकी फॉर्म क्या है। आईपीएल बड़ा टूर्नमेंट होगा क्योंकि आपके लगभग 15 खिलाड़ी तय हो चुके होंगे।’

पढ़ें,

‘आईपीएल के बाद टीम तय हो जाएगी’
शास्त्री ने कहा था, ‘मैं कह सकता हूं कि आईपीएल के बाद आपकी टीम लगभग तय हो जाएगी। मैं यह भी कहना चाहता हूं कि कौन कहां है इस बारे में कयास लगाने के बजाए आईपीएल तक का इंतजार करें। इसके बाद ही आप फैसला करने की स्थिति में होंगे कि देश में सर्वश्रेष्ठ 17 कौन हैं।’ धोनी के प्रशंसकों को इस बात से जरूर राहत मिलेगी कि बीसीसीआई के केंद्रीय अनुबंध का धोनी के भविष्य से कोई संबंध नहीं है। अनुबंध से बाहर होने की खबर आते ही सोशल मीडिया पर फैंस भावुक संदेश लिखने लगे थे।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *