रणजी ट्रोफी में डीआरएस शामिल, बंगाल ने किया स्वागत




कोलकाता
बंगाल के कोच अरुण लाल और कप्तान अभिमन्यु ईश्वरन ने गुरुवार को पहली बार रणजी ट्रोफी सेमीफाइनल में इस्तेमाल करने के बीसीसीआई के कदम का स्वागत किया। अंपायरों की फैसला समीक्षा प्रणाली () का इस्तेमाल पहली बार भारत के घरेलू सर्किट में शनिवार से शुरू होने वाले दो रणजी सेमीफाइनल में किया जाएगा। लेकिन इसमें सीमित विकल्प होंगे क्योंकि इसमें कोई हॉकआई, स्निकोमीटर या अल्ट्राएज नहीं होगा।

सेमीफाइनल में पहुंचने वाली चार टीमों -बंगाल, कर्नाटक, सौराष्ट्र और गुजरात- को इसका फायदा होगा, जिन्हें प्रत्येक पारी में चार रिव्यू मिलेंगे। लाल ने कर्नाटक के खिलाफ अपने अंतिम चार मुकाबले से पहले पत्रकारों से कहा, ‘मुझे डीआरएस का इतना अनुभव नहीं है। यह सीमित विकल्प वाला होगा, लेकिन उम्मीद करते हैं कि इससे कुछ बड़ी गलतियां कम की जा सकेंगी।’

बंगाल के कप्तान ईश्वरन ने कहा, ‘यह नई चीज है, लेकिन खिलाड़ी टीवी पर इसे काफी देख चुके हैं। इसलिए हम थोड़ा बहुत जानते हैं कि यह कैसे काम करता है।’



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *