सदी के टॉप 30 क्रिकेटर: टेस्ट में सचिन को जगह नहीं




नई दिल्लीक्रिकेट की प्रतिष्ठित पत्रिका विजडन ने नई सदी में क्रिकेट के सबसे वैल्यूएबल प्लेयर्स की लिस्ट जारी की है। इस लिस्ट को तैयार करने के लिए कई तरह के आकलन किए गए हैं। इस टेस्ट क्रिकेट की लिस्ट में श्रीलंका के मुथैया चोटी पर हैं वहीं भारतीय ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा को दूसरे पायदान पर रखा गया है। वहीं एकदिवसीय क्रिकेट की बात करें इंग्लैंड के ऑलराउंडर ऐड्रू फ्लिंटॉफ चोटी पर हैं और बांग्लादेश के शाकिब अल हसन को दूसरे नंबर पर रखा गया है।

इस लिस्ट में कई बड़े नाम हैं। ऑस्ट्रेलिया के कई दिग्गज खिलाड़ियों को इसमें जगह मिली है। लेकिन कई बड़े नाम इस लिस्ट से गायब हैं। इसमें सचिन तेंडुलकर और जेम्स एंडरसन के नाम शामिल नहीं हैं। नवभारत टाइम्स स्पोर्टस को भेजी गई लिस्ट में टेस्ट क्रिकेट में को 18वें और वनडे में छठे नंबर पर रखा गया है। वहीं सचिन को वनडे टीम में 22वें पायदान पर रखा गया है। भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को टेस्ट क्रिकेट में 8वें पायदान पर रखा गया है।

इस लिस्ट को एनालिसिस कंपनी क्रिकविज ने तैयार किया है। इसे बनाने के लिए हर खिलाड़ी को एक खास एमपीवी रेटिंग दी गई। इसमें आंकड़ों के जरिए यह देखा गया कि उस खिलाड़ी का बाकियों के मुकाबले मैच का कितना असर पड़ा।

टी20 क्रिकेट की बात करें तो अफगानिस्तान के कप्तान राशिद खान को नंबर वन पर रखा गया है। लेग स्पिनर राशिद ने अपने खेल से काफी प्रभावित किया है। दूसरे नंबर पर भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह हैं। ऑस्ट्रेलिया के ओपनर डेविड वॉर्नर तीसरे स्थान पर हैं और क्रिस गेल छठे पायदान पर रखा गया है।

टेस्ट के टॉप 10 खिलाड़ी वनडे के MVP ऑफ द सेंचुरी
मुथैया मुरलीधरन (श्रीलंका) ऐंड्रू फ्लिंटॉफ (इंग्लैंड)
रविंद्र जडेडा (भारत) शाकिब अल हसन (बांग्लादेश)
स्टीव स्मिथ (ऑस्ट्रेलिया) ग्लेन मैक्ग्रा (ऑस्ट्रेलिया)
ग्लेन मैक्ग्रा (ऑस्ट्रेलिया) एबी डिविलियर्स (साउथ अफ्रीका)
शॉन पॉलक (साउथ अफ्रीका) केन विलियमसन (न्यूजीलैंड)
शाकिब अल हसन (बांग्लादेश) विराट कोहली (भारत)
जैक कालिस (साउथ अफ्रीका) शॉन पॉलक (साउथ अफ्रीका)
रविचंद्रन अश्विन (भारत) हाशिम अमला (साउथ अफ्रीका)
पैट कमिंस (ऑस्ट्रेलिया) नाथन ब्रेकन (ऑस्ट्रेलिया)
शेन वॉर्न (ऑस्ट्रेलिया) जैक कालिस (साउथ अफ्रीका)

विजडन क्रिकेट मंथली के एडिटर-इन-चीफ फिल वॉकर ने फ्लिंटॉफ के बारे में बताया- ‘गेंद से वह डेथ ओवर्स के विशेषज्ञ थे और बल्ले से भी कमाल का प्रदर्शन करते थे। साल 2003 से 2004 के बीच उन्होंने 51 के औसत से 1264 रन बनाए वहीं 20 के औसत से 41 विकेट लिए। उनका इकॉनमी रेट 3.60 रहा। वह एक ऑलराउंडर की अहमियत दिखाते हैं।’



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *