RNI NEWS :- पहले फाइल और पर्ची बनाएं तभी इलाज संभव हो पाएगा :- सिविल अस्पताल

जालंधर :- जसकीरत राजा

स्थानीय सिविल अस्पताल आए दिन किसी न किसी विवाद के चलते सुर्खियों में बना रहता है । कभी यहां आने वाले मरीजों को मिलने वाली सुविधाओं में कमी के कारण से तो कभी यहां पर व्याप्त भ्रष्टाचार की वजह से सिविल अस्पताल आने वाले मरीजों को परेशानी उठानी पड़ती है । ऐसा ही एक मामला शुक्रवार को उस समय सामने आया जब गुरु तेग बहादुर नगर निवासी ललित बागड़िया अपनी एक रिश्तेदार महिला के साथ सिविल अस्पताल पहुंचे । मगर 2 घंटे से अधिक समय बीतने पर भी किसी डॉक्टर द्वारा उक्त महिला का इलाज शुरू नहीं किया गया । एच . एन . आई से विशेष बातचीत में ललित बागडिया ने बताया कि जब उन्होंने डाक्टरों से मरीज का इलाज ना शुरू करने को लेकर कारण पूछा तो उन्होंने कहा कि हम केवल दो डॉक्टर हैं और क्या – क्या कर सकते हैं । उन्होंने कहा कि मरीज की हालत काफी गंभीर बनी हुई थी क्योंकि महावरी के चलते उसे बहुत अधिक ब्लीडिंग हो रही थी । मरीज का तुरंत इलाज करने की जगह डॉक्टरों ने परिजनों को कहा कि पहले उनकी फाइल और पर्ची बनाएं तभी उसका इलाज संभव हो पाएगा । इतना ही नहीं डॉक्टरों ने मरीज के परिजनों को यह तक कहा कि हमारे पास इसकी दवाइयां तक नहीं है । इसलिए मरीज के इलाज में देरी हो रही है । ललित ने कहा कि अगर डॉक्टरों की लापरवाही के चलते उक्त महिला की हालत खराब हो जाए और कोई बड़ी दुर्घटना हो जाए तो उसके लिए कौन जिम्मेदार होगा । उन्होंने जिला प्रशासन से मांग की सिविल अस्पताल में डॉक्टरों को मरीजों के प्रति अधिक संवेदनशील होने और गंभीर अवस्था में आने वाले मरीजों का तुरंत इलाज करने के लिए हिदायतें दी जाए ताकि इस प्रकार के अन्य । किसी मामले में मरीज व उनके परिजनों को परेशानी ना उठानी पड़े । मामले कि नहीं कोई जानकारी , लिखित में आएगा तो रखेंगे अतिरिक्त डॉक्टर : इस मामले में जब सिविल सर्जन डॉक्टर गुरिंदर चावला से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि उनके पास इस मामले को लेकर कोई जानकारी नहीं आई है । लेकिन अगर किसी विभाग के अंदर डॉक्टरों की कमी है तो संबंधित डॉक्टर उन्हें लिखित में देंगे तभी मैं आगे कोई कार्रवाई करेंगी उन्होंने कहा कि अगर लिखित में अतिरिक्त डॉक्टर रखने के लिए उनके पास निवेदन आता है तो वे इस पर विचार अवश्य करेंगी । मगर किसी भी सूरत में मरीजों को परेशानी नहीं आने दी जाएगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please select facebook feed.