Border Action Team: नियंत्रण रेखा पर घुसपैठः पाकिस्तान की बॉर्डर ऐक्शन टीम में कौन? जानें अंदर की बात – what is pakistan’s border action team?


टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated:

नई दिल्ली

जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले की आशंका को देखते हुए राज्य सरकार की तरफ से पर्यटकों के लिए अडवाइजरी जारी किए जाने के बाद सीमा पर पाक की बॉर्डर ऐक्शन टीम (बैट) की तरफ से हमले की नाकाम कोशिश की गई। भारतीय सेना ने मुंहतोड़ जवाब देते हुए BAT के 5 से 7 कमांडोज को मार गिराया। इस समय पाक की बैट टीम चर्चा में है। ऐसे में आइए जानते हैं कि इस टीम में आखिर कौन-कौन लोग होते हैं और यह इतनी कुख्यात क्यों है?

गश्ती पैटर्न पढ़ करते हैं हमला

पाकिस्तान की बैट टीम में अमूमन छह से सात पाक सैनिक और कुछ आतंकी होते हैं जो कि एलओसी के संवेदनशील इलाके में भारतीय जवानों के गश्त करने के पैटर्न का अध्ययन कर हमला करते हैं। दरअसल, यह हमला पाकिस्तान सेना द्वारा कराया जाता है जिसका मकसद भारत में आतंकियों की घुसपैठ को अंजाम देना होता है। गौर करने वाली बात यह है कि बैट टीम में आतंकियों के शामिल होने से इनके मरने के बाद पाकिस्तान हाथ खड़े कर लेता है और कहता है कि ये हमारे लोग नहीं हैं। ताजा मामले में भी अब तक वह यही करता दिख रहा है। जिन 7 बैट कमांडोज को भारतीय जवानों ने LoC पर मार गिराया है, उनके शव अब तक वहीं पड़े हैं।

पढ़ें:सेना ने पाक से कहा- सफेद झंडा लाएं, शव ले जाएं

करगिल के घुसपैठियों में भी थे बैट

पाक आर्मी की एलिट स्पेशल सर्विसेज ग्रुप (एसएसजी) के कमांडो भी अक्सर बैट के हमले में शामिल होते हैं। एसएसजी कमांडो 1999 में करगिल युद्ध के वक्त भारतीय सीमा में प्रवेश करने वाले घुसपैठियों के पहले जत्थे में से एक थे। अपनी वर्दी के रंग के कारण ये ब्लैक स्टॉर्क्स के नाम से भी जाने जाते हैं।

हत्या के बाद शव को करते हैं क्षत-विक्षत

मई 2017 में बैट के हमले में पुंछ जिले के कृष्णा घाटी सेक्टर में दो भारतीय जवानों की हत्या के बाद शव क्षत-विक्षत कर दिया गया था। इस हमले के दौरान पाकिस्तानी सेना गोलाबारी कर उन्हें कवर दे रही थी। पाकिस्तान के इस दुस्साहस के बाद सीमा पर काफी तनाव देखा गया था।

आपको बता दें कि ऐसा ही हमला जनवरी 2013 में हुआ था जब बैट टीम ने लांस नायक हेमराज की हत्या कर शव क्षत-विक्षत कर दिया था। इसने लांस नायक सुधाकर सिंह के साथ भी ऐसा ही किया था और बीएसएफ के कॉन्स्टेबल राजिंदर सिंह बैट के हमले में घायल हो गए थे। पिछले दो सालों से पाकिस्तान की तरफ से कई बार बैट अटैक हुए हैं, जिसकी मदद से वे जम्मू-कश्मीर में आतंकियों की घुसपैठ कराने की कोशिश करते हैं।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *