Budget Session: Uproar In Punjab Assembly, Sad Mlas, Kartarpur Corridor – श्री करतारपुर साहिब से लौटे श्रद्धालुओं की दोबारा चेकिंग पर सदन में हंगामा, डीजीपी को हटाने की मांग



न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़
Updated Fri, 28 Feb 2020 01:20 AM IST

पंजाब विधानसभा।
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

पंजाब विधानसभा में गुरुवार को शून्यकाल के दौरान अकाली दल के सदस्यों ने श्री करतारपुर साहिब के दर्शन करके लौटने वाले श्रद्धालुओं की दोबारा चेकिंग का मुद्दा उठाया। इसे लेकर सदन में काफी देर तक हंगामा हुआ। इस मुद्दे पर अकाली दल को सदन में आम आदमी पार्टी का भी साथ मिला। उन्होंने डीजीपी दिनकर गुप्ता को तुरंत हटाने की मांग की।

आप के विधायक कुलतार सिंह संधवा ने कहा कि श्रद्धालुओं की फिर से चेकिंग करके डीजीपी दिनकर गुप्ता ने उनका मजाक ही उड़ाया है। इस पर सरकार की ओर से मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कहा कि आईबी के एक अधिकारी द्वारा लिखी गई चिट्ठी के आधार पर ही श्री करतारपुर साहिब से लौट रहे कुछ श्रद्धालुओं की पुलिस ने फिर से चेकिंग की। उनके पास आईबी के कुछ इनपुट थे। 

वहीं, आप विधायक कंवर संधू ने कहा कि मामले में डीजीपी से जवाब तलबी होनी चाहिए। उन्हें एक चिट्ठी के आधार पर ही क्लीन चिट नहीं दी जानी चाहिए। अकाली दल की ओर से सदन में मांग की गई कि पूरे मामले में एसएसपी और संबंधित एसएचओ को तुरंत सस्पेंड किया जाए। लोक इंसाफ पार्टी के सिमरजीत सिंह बैंस ने कहा कि डीजीपी को तुरंत हटाया जाए क्योंकि वे सिख धर्म के मामलों में दखलंदाजी कर रहे हैं।

सहकारिता और जेल मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने गुरुवार को शून्यकाल के दौरान राष्ट्रीय राजधानी में भड़की हिंसा और लोगों की हत्याओं का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी इस समय जल रही है और इंसानियत का दिनदहाड़े कत्ल हो रहा है। यह प्रजातांत्रिक और धर्म निरपेक्ष देश पर धब्बा है। यह सब उस समय पर हुआ जब अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को दिल्ली में ही रात के खाने की दावत दी गई थी। 

उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस और गृह मंत्रालय इसे रोकने में बुरी तरह असफल रही है। दिल्ली हाईकोर्ट ने इसकी निंदा करते हुए नफरत फैलाने वाले भाषणों के मामले में भाजपा के तीन नेताओं के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए थे लेकिन दुख की बात है कि उसके बाद दिल्ली हाईकोर्ट के जज का तबादला हो जाता है।

आप ने वजन तोलने वाली मशीनों के खरीद घोटाले का मुद्दा उठाया 
विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा ने पंजाब भर में आंगनबाड़ी सेंटरों के लिए 1.09 लाख रुपये में वजन तोलने वाली मशीनों की खरीद में घपले का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि जिस नेशनल फेडरेशन ऑफ फार्मर प्रिक्योरमेंट ऑफ इंडिया नाम की कंपनी से प्रति सेट 7882 रुपये में यह मशीनें खरीदी जा रही है, उसी स्पेसीफिकेशन वाली मशीनें 4000 रुपए प्रति सेट अन्य फर्मों से मिल रही है। चीमा ने आरोप लगाया कि इस खरीद में 50 प्रतिशत का सीधा घपला है। 

पंजाब विधानसभा में गुरुवार को शून्यकाल के दौरान अकाली दल के सदस्यों ने श्री करतारपुर साहिब के दर्शन करके लौटने वाले श्रद्धालुओं की दोबारा चेकिंग का मुद्दा उठाया। इसे लेकर सदन में काफी देर तक हंगामा हुआ। इस मुद्दे पर अकाली दल को सदन में आम आदमी पार्टी का भी साथ मिला। उन्होंने डीजीपी दिनकर गुप्ता को तुरंत हटाने की मांग की।

आप के विधायक कुलतार सिंह संधवा ने कहा कि श्रद्धालुओं की फिर से चेकिंग करके डीजीपी दिनकर गुप्ता ने उनका मजाक ही उड़ाया है। इस पर सरकार की ओर से मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कहा कि आईबी के एक अधिकारी द्वारा लिखी गई चिट्ठी के आधार पर ही श्री करतारपुर साहिब से लौट रहे कुछ श्रद्धालुओं की पुलिस ने फिर से चेकिंग की। उनके पास आईबी के कुछ इनपुट थे। 

वहीं, आप विधायक कंवर संधू ने कहा कि मामले में डीजीपी से जवाब तलबी होनी चाहिए। उन्हें एक चिट्ठी के आधार पर ही क्लीन चिट नहीं दी जानी चाहिए। अकाली दल की ओर से सदन में मांग की गई कि पूरे मामले में एसएसपी और संबंधित एसएचओ को तुरंत सस्पेंड किया जाए। लोक इंसाफ पार्टी के सिमरजीत सिंह बैंस ने कहा कि डीजीपी को तुरंत हटाया जाए क्योंकि वे सिख धर्म के मामलों में दखलंदाजी कर रहे हैं।


आगे पढ़ें

सुखजिंदर रंधावा ने दिल्ली हिंसा का मुद्दा उठाया 





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *