Ecr Earns Rs 1588 Crore In August Emerges Top Revenue Zone – अगस्त में पूर्व-मध्य रेलवे ने कमाए रिकॉर्ड 1588.74 करोड़ रुपये, ऐसे बढ़ी आमदनी


ख़बर सुनें

पूर्व-मध्य रेलवे (ईसीआर) ने वर्तमान वित्त वर्ष में अगस्त माह में रिकॉर्ड 1588.74 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया है। पिछले वर्ष की समान अवधि में ये आंकड़ा 1367.92 करोड़ रुपये था। यानी इस वर्ष मुनाफे में 16.114 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। 

इस संदर्भ में ईसीआर के मुख्य जनसंपर्क पदाधिकारी राजेश कुमार ने कहा कि, ‘अगस्त 2019 में ईसीआर ने 1588.74 करोड़ रुपये की प्रारंभिक आय अर्जित कर प्रथम स्थान प्राप्त किया है।’ 

ऐसे हुई कमाई

ईसीआर को अगस्त में माल लदान से 1331.93 करोड़ रुपये, यात्री यातायात से 237.26 करोड़ रुपये एवं अन्य स्रोतों से 19.55 करोड़ रुपये की आय हुई है। पिछले साल अगस्त में ईसीआर को माल लदान से 1134.93 करोड़ रुपये और यात्री यातायात से 218.80 करोड़ रुपये की कमाई हुई थी।

दूसरे स्थान पर दक्षिण-पूर्व मध्य रेलवे

वहीं इस अवधि में दक्षिण-पूर्व मध्य रेलवे दूसरे स्थान पर रहा। दक्षिण-पूर्व मध्य रेलवे को 1522.32 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है। 
1517.74 रुपये की आय अर्जित कर पूर्व तटीय रेलवे तीसरे स्थान पर है।

तत्काल टिकटों से रेलवे ने कमाए इतने पैसे

बीते दिनों जानकारी सूचना के अधिकार (आरटीआई) ने बताया था कि तत्काल टिकट बुक कराने वाले यात्रियों से रेलवे ने गत चार साल में 25,392 करोड़ रुपये की कमाई की थी। रेलवे ने वर्ष 2016 से 2019 के बीच तत्काल कोटे से 21,530 करोड़ रुपये की कमाई की। वहीं 3,862 करोड़ रुपये की अतिरिक्त आय प्रीमियम तत्काल टिकटों से हुई है। 

2,677 रेलगाड़ियों में लागू है तत्काल योजना

रेलवे के मुताबिक तत्काल योजना अभी 2,677 रेलगाड़ियों में लागू है और कुल 11.57 सीटों में 1.71 लाख सीटों पर बुकिंग तत्काल कोटे के तहत होती है। 

पूर्व-मध्य रेलवे (ईसीआर) ने वर्तमान वित्त वर्ष में अगस्त माह में रिकॉर्ड 1588.74 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया है। पिछले वर्ष की समान अवधि में ये आंकड़ा 1367.92 करोड़ रुपये था। यानी इस वर्ष मुनाफे में 16.114 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। 

इस संदर्भ में ईसीआर के मुख्य जनसंपर्क पदाधिकारी राजेश कुमार ने कहा कि, ‘अगस्त 2019 में ईसीआर ने 1588.74 करोड़ रुपये की प्रारंभिक आय अर्जित कर प्रथम स्थान प्राप्त किया है।’ 

ऐसे हुई कमाई

ईसीआर को अगस्त में माल लदान से 1331.93 करोड़ रुपये, यात्री यातायात से 237.26 करोड़ रुपये एवं अन्य स्रोतों से 19.55 करोड़ रुपये की आय हुई है। पिछले साल अगस्त में ईसीआर को माल लदान से 1134.93 करोड़ रुपये और यात्री यातायात से 218.80 करोड़ रुपये की कमाई हुई थी।

दूसरे स्थान पर दक्षिण-पूर्व मध्य रेलवे

वहीं इस अवधि में दक्षिण-पूर्व मध्य रेलवे दूसरे स्थान पर रहा। दक्षिण-पूर्व मध्य रेलवे को 1522.32 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है। 
1517.74 रुपये की आय अर्जित कर पूर्व तटीय रेलवे तीसरे स्थान पर है।

तत्काल टिकटों से रेलवे ने कमाए इतने पैसे

बीते दिनों जानकारी सूचना के अधिकार (आरटीआई) ने बताया था कि तत्काल टिकट बुक कराने वाले यात्रियों से रेलवे ने गत चार साल में 25,392 करोड़ रुपये की कमाई की थी। रेलवे ने वर्ष 2016 से 2019 के बीच तत्काल कोटे से 21,530 करोड़ रुपये की कमाई की। वहीं 3,862 करोड़ रुपये की अतिरिक्त आय प्रीमियम तत्काल टिकटों से हुई है। 

2,677 रेलगाड़ियों में लागू है तत्काल योजना

रेलवे के मुताबिक तत्काल योजना अभी 2,677 रेलगाड़ियों में लागू है और कुल 11.57 सीटों में 1.71 लाख सीटों पर बुकिंग तत्काल कोटे के तहत होती है। 





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *