India’s Richest Businessman And Reliance Group Chairman Mukesh Ambani Facing Huge Loss Due To Corona Virus Effect – कोरोनावायरस: मुकेश अंबानी को हुआ इतने करोड़ का नुकसान, दुनिया के टॉप-20 अरबपतियों की सूची से हुए बाहर



बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Wed, 25 Mar 2020 11:33 AM IST

ख़बर सुनें

कोरोनावायरस का बुरा असर पूरी दुनियाभर की अर्थव्यवस्था पर देखने को मिल रहा है। सभी बाजार लगातार गिरावट का सामना कर रहे हैं। ऐसे में इस महामारी का असर अरबपतियों पर भी देखने को मिल रहा है, जिन्हें काफी बड़ा नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। कोरोनावायरस के कारण भारत में वित्तीय संकट लगातार गहराता जा रहा है। इसी का नतीजा है कि शेयर बाजार में कई सेक्टर भारी गिरावट का सामना कर रहे हैं। ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स की रिपोर्ट की मानें तो देश के 14 सबसे अमीर अरबपतियों को अब तक इससे लगभग 4 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। ऐसे में मुकेश अंबानी दुनिया के टॉप 20 सबसे अमीर लोगों की लिस्ट से बाहर हो गए हैं। 

इस साल की शुरुआत से यानी की 1 जनवरी से अब तक में मुकेश अंबानी की संपत्ति 42 फीसदी घट गई है। इसे आसान भाषा में समझें तो अगर एक दिन में 100 करोड़ रुपए का नुकसान हो रहा है तो उसमें 42 रुपये मुकेश अंबानी के डूब रहे हैं। इसी का असर है कि ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के टॉप 20 अरबपतियों की सूची से मुकेश अंबानी बाहर हो चुके हैं। ऐसे में अगर ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स की मानें तो मुकेश अंबानी की 1 जनवरी 2020 को कुल संपप्ति 4,36,570 करोड़ रुपये थी, जो 20 मार्च 2020 तक घट कर 3,440 करोड़ डॉलर यानी की 2,56,280 करोड़ रुपये हो गई है। यानी, कि इस दौरान मुकेश अंबानी की संपप्ति में करीब 1,80,290 करोड़ रुपये की कमी आ गई।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के टॉप 20 अरबपतियों की सूची में अमेजन डॉट कॉम के संस्थापक जेफ बेजोस सबसे ऊपर हैं, जिनकी संपप्ति 11600 करोड़ डॉलर है। 

दअसरल कोरोनावायरस का अर्थव्यवस्था पर भारी नुकसान देखने को मिल रहा है, जहां बेंचमार्क सूचकांकों में केवल 44 सत्रों में ही 37% की गिरावट दर्ज की गई। आसान भाषा में समझें तो केवल 44 दिनों में ही भारत की सालाना जीडीपी का 40% बर्बाद हो गया। इससे पहले साल 2008 में बेंचमार्क इंडेक्स 200 सत्रों में 66% गिरा था जबकि, साल 2011 में बेंचमार्क इंडेक्स के 275 सत्रों में 28% की गिरावट से खलबली मच गई थी।

कोरोनावायरस का बुरा असर पूरी दुनियाभर की अर्थव्यवस्था पर देखने को मिल रहा है। सभी बाजार लगातार गिरावट का सामना कर रहे हैं। ऐसे में इस महामारी का असर अरबपतियों पर भी देखने को मिल रहा है, जिन्हें काफी बड़ा नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। कोरोनावायरस के कारण भारत में वित्तीय संकट लगातार गहराता जा रहा है। इसी का नतीजा है कि शेयर बाजार में कई सेक्टर भारी गिरावट का सामना कर रहे हैं। ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स की रिपोर्ट की मानें तो देश के 14 सबसे अमीर अरबपतियों को अब तक इससे लगभग 4 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। ऐसे में मुकेश अंबानी दुनिया के टॉप 20 सबसे अमीर लोगों की लिस्ट से बाहर हो गए हैं। 

इस साल की शुरुआत से यानी की 1 जनवरी से अब तक में मुकेश अंबानी की संपत्ति 42 फीसदी घट गई है। इसे आसान भाषा में समझें तो अगर एक दिन में 100 करोड़ रुपए का नुकसान हो रहा है तो उसमें 42 रुपये मुकेश अंबानी के डूब रहे हैं। इसी का असर है कि ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के टॉप 20 अरबपतियों की सूची से मुकेश अंबानी बाहर हो चुके हैं। ऐसे में अगर ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स की मानें तो मुकेश अंबानी की 1 जनवरी 2020 को कुल संपप्ति 4,36,570 करोड़ रुपये थी, जो 20 मार्च 2020 तक घट कर 3,440 करोड़ डॉलर यानी की 2,56,280 करोड़ रुपये हो गई है। यानी, कि इस दौरान मुकेश अंबानी की संपप्ति में करीब 1,80,290 करोड़ रुपये की कमी आ गई।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के टॉप 20 अरबपतियों की सूची में अमेजन डॉट कॉम के संस्थापक जेफ बेजोस सबसे ऊपर हैं, जिनकी संपप्ति 11600 करोड़ डॉलर है। 

दअसरल कोरोनावायरस का अर्थव्यवस्था पर भारी नुकसान देखने को मिल रहा है, जहां बेंचमार्क सूचकांकों में केवल 44 सत्रों में ही 37% की गिरावट दर्ज की गई। आसान भाषा में समझें तो केवल 44 दिनों में ही भारत की सालाना जीडीपी का 40% बर्बाद हो गया। इससे पहले साल 2008 में बेंचमार्क इंडेक्स 200 सत्रों में 66% गिरा था जबकि, साल 2011 में बेंचमार्क इंडेक्स के 275 सत्रों में 28% की गिरावट से खलबली मच गई थी।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *