RNI NEWS-मल्टीपर्पज हैल्थ वर्करों को रेगुलर करने और भत्ते बढ़ाने की मांग,यूनियन सदस्यों ने मुख्यमंत्री के नाम सिविल सर्जन को सौंपा ज्ञापन


RNI NEWS-मल्टीपर्पज हैल्थ वर्करों को रेगुलर करने और भत्ते बढ़ाने की मांग,यूनियन सदस्यों ने मुख्यमंत्री के नाम सिविल सर्जन को सौंपा ज्ञापन

शाहकोट (सुखविंदर सोहल) कोरोना संकट के बीच जमीनी स्तर पर कार्य कर रही मल्टीपर्पज हेल्थ वर्कर (फीमेल) को रेगुलर करने, उनके भत्ते बढ़ाने और मल्टीपर्पज हेल्थ वर्कर (मेल) को पूरी सैलरी देने की मांग को लेकर मल्टीपर्पज हेल्थ इम्प्लाइज़ यूनियन के जिला पदाधिकारियों ने सिविल सर्जन डॉ. गुरिंदर कौर चावला से मुलाकात की और उन्हें मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। यूनियन सदस्यों ने सिविल सर्जन को बताया कि मल्टीपर्पज हेल्थ वर्कर मेल और फीमेल स्वास्थ्य विभाग के फ्रंट लाइन वर्कर हैं और वे कोरोना काल में भी सबसे आगे होकर काम कर रहे हैं। इसलिए सरकार उनकी मांगों पर विचार करे और उन्हें माने। यूनियन सदस्य मल्टीपर्पज हेल्थ सुपरवाइजर अमनदीप सिंह, हरजिंदर सिंह, सुखपाल सिंह, जसबीर सिंह, कमलदीप कुमार,प्रदीप कुमार, पवन कुमार, विनोद कुमार, सुखजिंदर सिंह ने बताया कि यूनियन की प्रमुख मांग है मल्टीपर्पज हेल्थ वर्कर (फीमेल) को रेगुलर करना। ये वर्कर अलग-अलग हेड में लंबे समय से ठेका आधार पर काम कर रही हैं और इन्हें सैलरी भी बहुत कम मिलती है। इसी तरह यूनियन की दूसरी मांग नये नियुक्त किए गए मल्टीपर्पज हेल्थ वर्करों को बेसिक सैलरी की बजाय पूरा वेतन देना है। मल्टीपर्पज हैल्थ वर्करों ने कोरोना संकट के दरमियान सभी तरह की आपातकालीन सेवाएं प्रदान की हैं।
इसलिए इन्हें आपातकालीन सेवा के लिए भत्ते भी दिए जाएं। यूनियन सदस्यों के अनुसार कई गांवों मे मल्टीपर्पज हेल्थ वर्करों कीबीएलओ ड्यूटियां भी लगाई गई हैं। ऐसे में इन स्वास्थ्य कर्मचारियों को दोहरा काम करना पड़ता है। इसलिए इनकी बीएलओड्यूटी रद्द की जाए। यूनियन सदस्यों के अनुसार यदि सरकार उनकी मांगें मान लेती है, तो कोरोना संकट के बीच अपनी जान जोखिम में डालकर काम कर रहे इन स्वास्थ्य कर्मियों का मनोबल और ऊंचा होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *