RNI NEWS-रेल रोको आंदोलन 21वें दिन में दाखिल,17 अक्तूबर तक रहेगा जारी


RNI NEWS-रेल रोको आंदोलन 21वें दिन में दाखिल,17 अक्तूबर तक रहेगा जारी

जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह

किसान मज़दूर सँघर्ष कमेटी पंजाब द्वारा कल शाम 5 बजे किये गए विचार विमर्श के बाद रेल रोको आंदोलन 17 अक्तूबर तक बढ़ाने का फैसला किया गया रेल रोको आंदोलन रेलवे ट्रैक देवीदासपुरा अमृतसर और बस्ती टैंको वाली फिरोज़पुर में आज धरना 21 वें दिन में दाखिल हो गया इस एकत्र को संबोधित करते हुए राज्य सचिव सरवन सिंह पंधेर ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुंबई में बयान दिया कि हम किसान अनदाता व्यवसायी है पर किसान तो पहले ही व्यवसायी है पर आज केंद्र सरकार की किसान विरोधी नीतियों के चलते आज किसान भिखारी बन गया है उन्होंने कहाकि किसान ने चीनी,दूध,अनाज पैदा किया है जिससे सरकार के गुदाम भर जाते हैं बावजूद इसके देश का किसान ऋणी रहता है देश मे हर रोज़ 50 किसान खुदकुशी कर रहें हैं वही प्रधानमंत्री यह बयान दे रहें हैं कि यह ऑर्डिनेंस वाला ऐतिहासिक फैसला किया है पर देश के सामने सही तथ्य पेश नही कर रहे उनके पास आमदन बढ़ाने वाला कोई रोड मैप नही है चूंकि किसानों के लागत खर्चे लगातार बढ़ रहे हैं,जबकि फसलों के भाव लागत खर्चे मुताबिक वर्ष 1970 से नही मिलें हैं खादों पर सब्सिडी वापिस करने का भारत सरकार का 1.17लाख करोड़ बाकी रहती सब्सिडी 4 वर्षो में वापिस करने का फैसला किया है जो प्रधानमंत्री का दावा तथ्यों पर आधारित नही है उनका दावा है कि यह ऐतिहासिक फैसला कृषि सुधारों पर सच यह है कि यह इतिहास में कृषि क्षेत्र को उजाड़ने का अध्याय है क्योंकि कृषि उपज पर कुदरती साधनों का नही बल्कि पूंजीपतियों के कब्जा है किसान नेताओं ने कहा कि किसान मजदूर जत्थेबंदी द्वारा केंद्र के साथ मीटिंग में ना जाने का फैसला ही कारण बताकर रदद् कर दिया गया एक तरफ मीटिंग करने के लिए केंद्र पंजाब से वफद बुला रहा है वही दूसरी तरफ महाराष्ट्र में प्रधानमंत्री द्वारा बयान देना बातचीत में अडिंगा बन रहे हैं इस मौके सुखविंन्दर सिंह सभरा,गुरबचन सिंह चब्बा, जर्मनजीत सिंह बंडाला,निशान सिंह,कुलदीप सिंह, मंगजीत सिंह सिधवां,बलकार सिंह देवीदास पुरा, कंवलजीत सिंह वनचड़ी,अजीत सिंह ठठीया,चरण सिंह कलेर घुमान,मुखबैन सिंह,गुरभेज सिंह सूरो – पड्डा तरसेम सिंह बताला,हरबिंन्दर सिंह भलाई पुर ,सुखेदव सिंह चाटीविंड ,सविंदर सिंह रूपोवाली ,हरभजन सिंह वेरोनंगल और काबल सिंह हाज़िर थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *