RNI NEWS :- सावधान- बलाचौर पुलिस को खुफिया जानकारी देनी पड़ सकती है महंगी

RNI NEWS :- सावधान- बलाचौर पुलिस को खुफिया जानकारी देनी पड़ सकती है महंगी

यह शब्द पिछले 8 महीने पहले कहे गए थे-पिछले 5 दिन पहले ही डीएसपी बलाचौर जतिंदरजीत सिंह को जानकारी दी गई थी, उन्होंने अपनी ईमानदारी दिखाते हुए कार को शराब सहित पकड़ा

बलाचौर, 25 अगस्त-(तेज प्रकाश खासा)

ऐसा ही एक अपराधिक किस्म के व्यक्ति के साथ पुलिस की तारें जुड़ी होने के संकेत देती शिकायत के सामने आने का समाचार प्राप्त हुआ था ।सब डिवीजन बलाचौर के गांव नीलेवाड़े (रत्तेवाल) मंगल सिंह ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया था कि उसने अपने गांव के एक व्यक्ति कुलदीप सिंह उर्फ दीपा के पास एक आई-20 कार जिसके ऊपर पीबी-65-एआर-7257 नंबर की प्लेट लगी हुई थी, तो इस नंबर की लगी प्लेट की पड़ताल करने पर यही नंबर एक हीरो मेस्ट्रो स्कूटरी जो की हरप्रीत मोहाली एसएएस नगर व्यक्ति के नाम पर चलती होने वाले का पता लगा तो।इसकी तुरंत सूचना डीएसपी बलाचौर राजपाल सिंह हुंदल को लिखती रूप में शिकायत दी।जिसमें कार चालक का नाम पता भी बताया और इलाके में बड़ी वारदात होने का भी जिक्र किया गया।मगर शिकायतकर्ता को हैरानी हुई जब पुलिस की तरफ से इस नंबर की कार और कार चालक को पकड़ने की बजाय उसको बचाना शुरू कर दिया।उन्होंने बताया कि शिकायत के बाद कार का इलाके में दिखाई ना देना इस बात का संकेत करती है कि पुलिस की मिलीभगत करके कार को कहीं ठिकाने लगाया जा चुका है।इस संबंधी आखिर में शिकायतकर्ता ने पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कहा कि जाली नंबर प्लेट वाली गाड़ी में शराब की तस्करी का काम उच्च स्तर पर किया गया है और दोषी व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई करने की बजाय पुलिस उनको ही तंग परेशान कर रही है उस समय शिकायतकर्ता ने जिला शहीद भगत सिंह नगर के एसएससी दीपक हिलोरी को शिकायत दी, उनकी तरफ से एसपी बलराज सिंह को मार्क की गई,परंतु उनकी बदली होने के कारण यह मामला ठंडे बस्ते में पड़ गया था।उसके उपरांत शिकायतकर्ता ने एसएसपी अलका मीणा को संगठन के माध्यम से जानकारी प्रदान की तो उन्होंने एसपी वजीर सिंह खैहरा को शिकायत मार्क कर दी।उस समय अखिल भारतीय भ्रष्टाचार निर्मूलन संघर्ष समिति नार्थ जोन और पंजाब प्रधान तेज प्रकाश खासा की तरफ से एक कुलदीप सिंह उर्फ दीपा के साथ हुई वार्तालाप की सीडी भी मुहैया करवाई गई। उसमें दीपा ने माना था कि उसने यह कार अपने दोस्त सुखदीप सिंह गांव छोकरा से लेकर आया था और इस नंबर की कार चलाई थी।परंतु उसके उपरांत भी एसपी वजीर सिंह की तरफ से कोई भी पुख्ता कार्रवाई नहीं की गई, बल्कि शिकायतकर्ता को ही तंग परेशान करते रहे।हर बार शिकायतकर्ता को ही अपने दफ्तर में बुलाते रहे।इससे साफ जाहिर हो गया था कि अब कुछ भी नहीं हो सकता है।पुलिस को खुफिया जानकारी देना फिजूल की बातें ही रह गई है, नशा तस्करों के बारे में बताना अपनी जान को जोखिम में डालने के बराबर हो गया है।इस दौरान एक कार के बारे में एसपी वजीर सिंह को बताया गया कि i20 कार पीबी-10-जीएन-3915 नंबर लगाकर चलाई जा रही है, परंतु फिर भी कोई भी कार्रवाई नहीं हुई।
पिछले 3 दिन पहले रात्रि के समय 20 पेटी शराब के साथ वही कार पीवी-10-जीएन 3915 के साथ एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया, जबकि दूसरा भागने में सफल रहा। जानकारी देते हुए डीएसपी बलाचौर जतिंदरजीत सिंह ने बताया कि यह वही कार है जिसके ऊपर पहले नंबर पीबी 65 ए आर 7257 लगा हुआ था और अब पीबी-10-जीएन- 3915 लगा हुआ है, जोकि लुधियाना की एक रजनी थापर के नाम पर चल रही है। इस कार पर पहले नंबर पीबी-65-एआर- 7257 लगा हुआ था।अब जिस ड्राइवर के ऊपर मामला दर्ज हुआ है उसने भी खुलासा किया है कि यह शराब का कारोबार सभी कुलदीप सिंह उर्फ दीपा के नाम से हो रहा है, यह कार भी उसी ने दी थी।डीएसपी बलाचौर ने बताया कि पर्चे में बलराम बागड़ी गांव नीलेवाड़े, कुलदीप सिंह उर्फ दीपा गांव नीलेवाड़े को पर्चे में शामिल किया गया है।पुलिस द्वारा एक्साइज एक्ट 61-1-14 और जाली नंबर लगाने पर धारा 483 के अधिन मामला दर्ज किया है।
इस संबंध में जब उस समय कुलदीप सिंह गांव नीलेवाड़े के साथ फोन के ऊपर संपर्क करके आई-20 कार नंबर पीबी 65-एआर-7257 उसके पास होने का जिक्र किया था तो उसने यह कार उसके पास होने से इंकार कर दिया था, मगर चल रही फोन में बातचीत के दौरान ही उसने माना था कि यह कार उसके दोस्त सुखदीप सिंह से चलाने के लिए लाया था।कार बारे उस व्यक्ति को ही पता होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *