slow death of yasser arafat: MQM लीडर का दावा, नवाज को यासिर अराफात की तरह धीमी मौत के लिए दिया जा रहा जहर – nawaz being given polonium to die slow death like yasser arafat, claims mqm leader altaf hussain


MQM लीडर का दावा, नवाज को यासिर अराफात की तरह धीमी मौत के लिए दिया जा रहा जहर

लंदन

ब्रिटेन में शरण ले रखे पाकिस्तान के मुताहिदा कौमी मूवमेंट के संस्थापक अल्ताफ हुसैन ने दावा किया है कि फिलिस्तीन के पूर्व राष्ट्रपति यासिर अराफात की तरफ पूर्व पीएम नवाज शरीफ को भी धीमी मौत मरने के लिए पोलोनियम दिया जा रहा है। यासिर की 2004 में मौत हो गई थी। हुसैन ने 2 नवंबर को अपने ट्वीट पर पाक सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘नवाज शरीफ के शरीर में प्लेटलेट काउंट गिर रहे हैं। यह माना हुआ तथ्य है कि पोलोनोयिम का इस्तेमाल दुश्मनों को खत्म करने में होता है। यह धीमे जहर के रूप में काम करता है और प्लेटलेट को खत्म कर देता है। सिर्फ विशेशज्ञ रेडियोऐक्टिव लैब में इसकी पुष्टि हो सकती है। अंतरराष्ट्रीय लैब को इसकी जांच करनी चाहिए।’

वहीं, मंगलवार को अल्ताफ ने ‘पोलोनियम- अ परफेक्ट पॉइजन’ हेडिंग से एक आर्टिकल अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया। उन्होंने यह आर्टिकल अपने 2 नवंबर के पोस्ट पर लोगों द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में किया था। उन्होंने लिखा, ‘डियर स्टूडेंट्स और फॉलोअर्स! ‘पोलोनियम-अ परफेक्ट पॉइजन’ को लेकर मेरा शोध आर्टिकल यह रहा , जो 2 नवंबर को मेरे ट्वीट पर आपके सवालों का जवाब है। मैंने इस महत्वपूर्ण विषय पर जवाब देने की हर संभव कोशिश की है। कृपया इसे पूरी तरह से पढ़ें।”

अल्ताफ ने अपने आर्टिकल में दावा किया, ‘यासिर अराफात के अलावा नोबेल पुरस्कर विजेता व मैडम क्यूरी की बेटी इरेने जूलियट क्यूरी और अलेक्जेंडर लितविनेन्को कुछ ऐसे जानेमाने लोग पोलोनियम के जहर के पीड़ित हैं।’

उल्लेखनीय है कि नवाज को बुधवार को सर्विसेज इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (सिम्स) से छुट्टी दे दी गई है और उनके आवास में शिफ्ट कर दिया गया। नवाज (69) को 22 अक्टूबर को तब अस्पताल में भर्ती कराया गया था जब उनका प्लेटलेट काउंट काफी गिर गया था। उधर, नवाज के घर में आईसीयू तैयार किया गया और डॉक्टरों ने उनके घर में लोगों के आने-जाने पर रोक लगा दी है। उनकी पार्टी पीएमएल-एन की प्रवक्ता मरियम औरंगजेब ने बयान जारी कर कहा कि चूंकि उनका प्लेटलेट काउंट गिर रहा है तो उन्हें लोगों से संक्रमण हो सकता है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please select facebook feed.