T20: भारत ने विंडीज को हराया, सीरीज क्लीन स्वीप



नई दिल्ली
भारतीय टीम ने मंगलवार को गयाना में खेले गए टी-20 सीरीज के तीसरे मुकाबले में वेस्ट इंडीज को 7 विकेट से हरा दिया। इसके साथ ही भारतीय टीम ने तीन मैचों की सीरीज को 3-0 से क्लीन स्वीप कर लिया। इससे पहले आउटफील्ड गीली होने की वजह से मैच देर से शुरू हुआ। भारतीय कप्तान विराट ने टॉस जीतकर पहले फील्डिंग का फैसला किया।

विंडीज टीम ने कायरन पोलार्ड (58) की फिफ्टी की बदौलत निर्धारित 20 ओवरों में 6 विकेट पर 146 रन बनाए। जवाब में भारतीय टीम ने कप्तान (59 रन) और (नाबाद 65 रन, 42 गेंद, 4 चौके, 4 छक्के) की अर्धशतकीय पारियों की बदौलत 19.1 ओवर में 3 विकेट पर 150 रन बनाते हुए जीत दर्ज की। पंत ने अंतिम ओवर की पहली गेंद पर विजयी सिक्स जड़ा। मुकाबले में केवल 4 रन देकर 3 विकेट लेने वाले पेसर दीपक चाहर मैन ऑफ द मैच रहे। क्रुणाल पंड्या मैन ऑफ द सीरीज रहे।

देखें:

8 वर्ष बाद जीती सीरीज
उल्लेखनीय है कि भारतीय टीम ने दूसरा मैच जीतते ही वेस्ट इंडीज के खिलाफ विदेश में 8 साल बाद सीरीज जीतने की उपलब्धि हासिल की थी। पिछली बार भारत ने 2011 में वेस्ट इंडीज में 1-0 से सीरीज जीती थी। दोनों टीमों के बीच अब तक कुल 14 टी20 मुकाबले खेले गए हैं। इनमें से भारतीय टीम ने 8 में जीत दर्ज की है, जबकि वेस्ट इंडीज को 5 मैचों में जीत मिली है। एक मुकाबले में नतीजा नहीं निकला।

पढ़ें:

टीम इंडिया की खराब शुरुआत147 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत खराब रही। टीम इंडिया को पहला झटका ओपनर शिखर धवन (3) के रूप में लगा। वह महज 5 गेंदों का सामना कर सके। उन्हें ओशाने थॉमस ने कॉटरेल के हाथों कैच आउट कराया जबकि दूसरा झटका केएल राहुल के रूप में लगा। रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में ओपनिंग करने उतरे इस बल्लेबाज ने 20 रनों की पारी में 18 गेंदों में दो चौके और एक सिक्स लगाया। उन्हें फैबियन एलेन ने पूरन के हाथों कैच कराया और भारत का स्कोर 2 विकेट पर 27 रन हो गया।

पढ़ें:

विराट कोहली का 21वां पचासा
दो विकेट जल्दी गिरने के बाद मैदान पर आए कप्तान विराट कोहली और ऋषभ पंत ने मोर्चा संभाल लिया। पंत अपने विस्फोटक अंदाज में नजर आए तो कप्तान कोहली ने कमजोर गेंदों को सीमारेखा से बाहर पहुंचाया। देखते ही देखते कोहली ने 37 गेंदों में टी-20 इंटरनैशनल करियर का 21वां अर्धशतक पूरा किया। बता दें कि टी-20 इंटरनैशनल में 21 फिफ्टी जड़ने वाले वह पहले बल्लेबाज बन गए हैं।

पंत ने भी जड़ा पचासा
एक ओर जहां विराट चौके लगा रहे थे तो दूसरी ओर पंत चौके के साथ छक्के से भी दर्शकों का मनोरंजन कर रहे थे। 17वें ओवर में पंत ने भी 37 गेंदों में चौके के साथ टी-20 इंटरनैशनल करियर का दूसरा अर्धशतक पूरा किया। भारत को 15 गेंदों में जीत के लिए 14 रनों की जरूरत थी, तभी कप्तान कोहली ओशाने थॉमस की गेंद पर लुइस के हाथों कैच आउट हो गए। उन्होंने 45 गेंदों में 6 चौके की मदद से 59 रन बनाए। उनके और पंत के बीच तीसरे विकेट के लिए 106 रनों की साझेदारी हुई। इसके बाद पंत और मनीष पांडे (नाबाद 2 रन) ने टीम इंडिया को कोई झटका नहीं लगने दिया और 19.1 ओवर में टीम को जीत दिला दी।

ऐसी रही विंडीज की पारी
इससे पहले कायरन पोलार्ड के अर्धशतक की मदद से वेस्ट इंडीज ने शुरुआती झटकों से उबरकर भारत के खिलाफ 6 विकेट पर 146 रन बनाए। पोलार्ड ने 45 गेंदों पर एक चौके और छह छक्के की मदद से 58 रन बनाए। उन्होंने यह पारी तब खेली, जबकि दीपक चाहर (3 ओवर में 4 रन देकर 3 विकेट) ने वेस्ट इंडीज का शीर्ष क्रम झकझोर कर उसका स्कोर तीन विकेट पर 14 रन कर दिया था। पोलार्ड ने निकोलस पूरन (23 गेंदों पर 17) के साथ चौथे विकेट के लिए 66 रन जोड़े। रोवमैन पॉवेल (20 गेंदों पर नाबाद 32) ने नवदीप सैनी (34 रन देकर दो) के आखिरी ओवर में 2 छक्के लगाए।

दीपक की घातक गेंदबाजीदीपक चाहर ने शुरू में ही 3 विकेट निकालकर कप्तान विराट कोहली के पहले क्षेत्ररक्षण के फैसले को भी सही साबित किया। उन्होंने बेहतरीन लाइन और लेंथ से गेंदबाजी की और परिस्थितियों का पूरा फायदा उठाया। इस तेज गेंदबाज ने सुनील नरेन (2) को हवा में कैच देने के लिए मजबूर किया और फिर इविन लुईस (10) और शिमरोन हेटमायर (एक) को पगबाधा आउट करके कैरेबियाई खेमे में खलबली मचा दी।

पोलार्ड का अर्धशतक
पोलार्ड ने हालांकि खुद पर दबाव नहीं बनने दिया। उन्होंने सैनी पर लॉन्ग ऑफ पर छक्के से खाता खोला और फिर अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेल रहे लेग स्पिनर राहुल चार (27 रन देकर एक) का स्वागत 2 छक्के से किया। ऑफ स्पिनर वॉशिंगटन सुंदर पर लॉन्ग ऑन पर लगाए गए उनके चौथे छक्के से वेस्ट इंडीज 10वें ओवर में 50 रन के पार पहुंचा। सैनी ने पूरन को लंबी पारी नहीं खेलने दिया, लेकिन पोलार्ड अपने पूरे रंग में थे। उन्होंने क्रुणाल पंड्या पर लॉन्ग ऑन पर छक्का लगाकर 40 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया।

यूं लौटे पोलार्ड और ब्रैथवेट
पोलार्ड ने बाएं हाथ के इस स्पिनर के इस ओवर में आगे बढ़कर गगनदायी छक्का भी लगाया। सैनी ने पोलार्ड का मिडिल स्टंप उखाड़ा। यह आक्रामक बल्लेबाज गेंद की गति का सही अनुमान नहीं लगा पाया था। राहुल चाहर ने कप्तान कार्लोस ब्रैथवेट (10) को आउट करके अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का पहला विकेट लिया। फैबियन एलेन 8 रन बनाकर नाबाद रहे।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *